जब मात्र २३७ रुपयों के लिए दर दर भटक रहे थे इरफ़ान खान

4 months ago 316

जी हा, वक़्त हर दिन एक सा नहीं रहता। 

आज सुबह इरफ़ान खान जी का मुंबई के कोकिलबेंन अम्बानी हॉस्पिटल में निधन हो गया। 

नॅशनल इंस्टीटिटूड ऑफ़ ड्रामा के एडमिशन के समय उन्हें स्कालरशिप मिली थी पर फिर भी २३७ रुपये जमा करवाने थे।  

और इरफ़ान खान के पास उस वक़्त बिलकुल भी पैसे नहीं थे। 

इरफ़ान पैसो के लिए दर दर भटक रहे थे। 

उन्होंने अपने बड़े भाई से पैसो की मदद करने के लिए कहा पर उस वक़्त बड़े भाई की तरफ से भी कोई मदद नहीं मिल पायी थी। 

जब अपने कुछ दोस्तों से पैसे मांगे तो सब ने देने से इंकार कर दिया। 

एक दोस्त ने तो यहाँ तक कह दिया ,"अगर तू मुझसे परसो पैसे मांगता तो मैं तेरी मदद कर सकता था। 

इरफ़ान खान को हतास देख कर उनकी बड़ी बेहेन ने अपनी सारी जमा पूंजी इरफ़ान खान को दे दी और इस तरह इरफ़ान खान ने नॅशनल इंस्टीटिटूड ऑफ़ ड्रामा में एडमिशन लिया।

आज भले इरफ़ान खान के पास बहोत पैसे हो पर एक वक़्त पर उन्हें बहोत ज्यादा पैसो की तंगी से गुजरना पड़ा था। 

Read Entire Article