मुफ्ती पर चुप्पी को लेकर बोले मुख्तार अब्बास नकवी, अलगाववाद को बढ़ावा दे रही कांग्रेस!

1 month ago 19

नई दिल्लीः जम्मू कश्मीर में पीडीपी राष्ट्रीय वार्ता (National Conference) और तमाम दूसरी पार्टियों द्वारा पीपुल्स अलायंस ऑफ गुपकार डिक्लेरेशन बनाए जाने के बाद बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) ने अलायंस को लेकर तीखा हमला बोला है. नकवी ने फारूक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती को नसीहत देते हुए कहा है कि ''बीजेपी के खिलाफ रहना है तो रहिए लेकिन संसद के फैसले का सम्मान करिए जो नेता तिरंगे का सम्मान नहीं कर सकता, संसद का सम्मान नहीं कर सकता उस पर जम्मू कश्मीर के लोग कभी भी भरोसा नहीं कर सकते.''

कांग्रेस ने मुंह पर लगाए हैं टेप

इसके साथ ही मुख्तार अब्बास नकवी ने कांग्रेस की चुप्पी को लेकर सवाल उठाए हैं. नकवी ने कहा कि कांग्रेस ने अपने मुंह पर टेप लगाए हुए हैं? वह ऐसी पार्टियों को चुप्पी साधकर सपोर्ट कर रही और अलगाववाद को ऑक्सीजन दे रही है. नकवी ने सवाल किया कि आखिर मुफ्ती के विवादित बयान को लेकर कांग्रेस चुप क्यों हैं? मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि यह अलायंस आखिर किस फैसले के खिलाफ हैं? क्या ये फैसला सही नहीं था कि ''एक विधान एक निशान मांग रहा है हिंदुस्तान', यही फैसला था ना.  7 दशकों की मांग को मोदी जी ने 7 घंटे में पूरा किया था. उन्होंने कहा,  आप क्या चाहते हैं फिर से अलगाववादियों वाला निशान वहां लगाया जाए. 

ये भी पढ़ें- BJP ने की महबूबा मुफ्ती को जेल भेजने की मांग और SSDF ने कहा, सीमाएं खोलकर भेजो पाकिस्तान

भारत की शान है तिरंगा

नकवी ने कहा, तिरंगा हिंदुस्तान की शान है भारत की पहचान है और जम्मू एंड कश्मीर और लद्दाख की जान है इसलिए यह सब चीजें हो रही हैं. उन्होंने कहा, इनको बौखलाहट इस बात की है कि यह सियासी परिवार यह अभी तक जम्मू कश्मीर कारगिल और लेह के लोगों को लुटता रहा है वो रास्ते अब इनके बंद हो गए हैं. लिहाजा अब कोशिश हो रही है कि किस तरह से अलगाववादियों को ऑक्सीजन दे सकें.

कांग्रेस की स्थिति बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना' जैसी है

यह अलगाववादियों के कंधे पर बंदूक रखकर राजनीति किया करते थे वह बंद हो गई है. ऐसे में इनके लिए यह सब बहुत दूर की कौड़ी हो गई है. अब 'बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना' जैसी स्थिति है. आज जम्मू कश्मीर के लोग खुश हैं तो इनकी दीवानगी दिखाई पड़ रही है.  उन्होंने कहा, जिसे हिंदुस्तान के संविधान पर विश्वास है उसे भारत के तिरंगे पर यकीन करना ही होगा उसका सम्मान करना ही होगा जो सम्मान नहीं करना चाहता और नहीं कर रहा उसकी नियत पर कभी भी हिंदुस्तान के लोग जम्मू कश्मीर के लोग लद्दाख के लोग विश्वास नहीं करेंगे.  अब इस बेवकूफी का कोई जवाब तो है नहीं उनके पास कोई मुद्दा तो है नहीं हमारे सुरक्षा बल क्या कर रहे हैं यह बात हम देख रहे हैं आराम से देख रहे हैं अच्छी तरीके से देख रहे हैं सब समझ भी रहे.

ये भी पढ़ें-महबूबा की गुस्ताखी पड़ेगी 'गुपकार' गैंग को भारी, जानिए क्या है 26 अक्टूबर की तैयारी

बीजेपी के खिलाफ रहिए लेकिन संविधान के पक्ष में खड़े रहिए

नकवी ने कहा, दिक्कत यह है कि हमारे यहां देश में स्वतंत्रता ज्यादा है तो इसी स्वतंत्रता का नतीजा है. यह कहेंगे कि हम तिरंगे के अलावा एक और झंडा खड़ा करेंगे. आप बीजेपी के खिलाफ रहिए किसने मना किया है लेकिन देश और संविधान के पक्ष में तो दिखाई दीजिए. इस पार्लियामेंट ने धारा 370 का खात्मा किया है उसके समर्थन पर तो रहिए. कांग्रेस जो वह है पीछे से सपोर्ट कर रही है अभी तक आपने देखा इस मामले पर कांग्रेस की चुप्पी है. टेप लगा लिया है वेट करें या ना करें यह हमारा काम नहीं लेकिन वह अब जब बोलेंगे तो लेट हो जाएगा यह लेट हो चुका है. ऐसी पार्टियां जो अलगाववाद के रास्ते पर जा रही हैं कांग्रेसी इनको पीछे से समर्थन कर रही है.

Read Entire Article