Jammu-Kashmir में आंतकी हमले के लिए Social Media का इस्तेमाल, Pakistan की खुफिया एजेंसी ISI की साजिश

1 week ago 12
Pakistan

खुफिया एजेंसियों ने जिन अकाउंट्स (Fake Social Media Accounts) की पहचान की है, उनको पाकिस्तान (Pakistan) से ऑपरेट किया जा रहा है. सुरक्षा एजेंसियों को शक है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) आतंकियों को हमले का टारगेट देने के लिए ऐसे अकाउंट्स का सहारा ले रही है.

जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले के लिए फेक सोशल मीडिया अकाउंट्स का हो रहा इस्तेमाल (प्रतीकात्मक फोटो) | फोटो साभार: PTI

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले के लिए (Terrorist's Attack in Jammu-Kashmir) आतंकवादी संगठन सोशल मीडिया (Social Media) का इस्तेमाल कर रहे हैं. आतंकवादी सोशल मीडिया पर अलग-अलग नाम से बने अकाउंट्स (Fake Social Media Accounts) के जरिए कश्मीर में मौजूद आतंकियों को हमले का निर्देश दे रहे हैं.

सोशल मीडिया के जरिए आंतकी हमले की साजिश

बता दें कि खुफिया एजेंसियों ने करीब 100 ऐसे अकाउंट्स (Fake Social Media Accounts) की पहचान की है, जो टेलीग्राम (Telegram), फेसबुक (Facebook) और ट्विटर (Twitter) पर एक्टिव हैं. सोशल मीडिया पर ऐसे ही एक अकाउंट के जरिए पिछले दिनों सुरक्षा एजेंसियों के कैंप और पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड हमले के साथ-साथ लोन वुल्फ अटैक करने के निर्देश दिए गए थे.

ये भी पढ़ें- PICS: सीने से बाहर धड़कता है इस लड़की का दिल, हो गई ये अजीबोगरीब बीमारी

खुफिया एजेंसियों को मिली बड़ी कामयाबी

Zee मीडिया को मिली जानकारी के मुताबिक, खुफिया एजेंसियों ने जिन अकाउंट्स की पहचान की है, उनको पाकिस्तान (Pakistan) से ऑपरेट किया जा रहा है. सुरक्षा एजेंसियों को शक है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) आतंकियों को हमले का टारगेट देने के लिए ऐसे अकाउंट्स का सहारा ले रही है.

आतंकी संगठनों में मची है खलबली

देखा जाए तो जिस तरीके से सुरक्षा एजेंसियों ने जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान से मिलने वाली हवाला की फंडिंग और सीमा पार से आए दिन होने वाले घुसपैठ को काफी कम किया है, उससे आतंकी संगठनों में खलबली मची हुई है.

ये भी पढ़ें- इतना भयानक एक्सीडेंट! उड़ गए ट्रक के चिथड़े, फिर भी ऐसे बच गई ड्राइवर की जान

पाकिस्तान में बैठे आतंकियों के आकाओं को इस बात का डर सता रहा है कि फोन या सैटेलाइट का इस्तेमाल सुरक्षित नहीं है, ऐसे में अलग-अलग नाम से सोशल मीडिया पर अकाउंट्स बनाए गए हैं. सुरक्षा एजेंसियों की इन अकाउंट्स पर पूरी नजर है. किसी भी साजिश को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा.

LIVE TV

Read Entire Article